संस्कृत प्रतिभा खोज 2023

नियमावली तथा अध्ययन हेतु महत्वपूर्ण लिंक

आप जल्द ही ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगें। तब तक प्रतियोगिता की तैयारी करें। अधिक जानकारी के लिए अपने जनपद के संयोजक को फोन करें।


           

     

संस्कृत गीत प्रतियोगिता

संस्कृत गीतों की तैयारी करने के लिए नीचे लिंक दिये गये हैं। इसपर क्लिक करके संस्कृत गीतों की तैयारी करें। यहां पर कतिपय गीतों पर विडियो/ आडियो लिंक भी दिया गया है। इन गीतों को सुनकर प्रतिभागी प्रतियोगिता तैयारी कर सकते हैं।

 👉   संस्कृत गीत संग्रह - 1

 👉 संस्कृत गीत संग्रह - 2

 👉   संस्कृत गीत संग्रह - 3

                       👉 संस्कृत गीत संग्रह - 4

 👉 संस्कृत गीत संग्रह- 5

👉 संस्कृत गीत संग्रह - 6

👉    संस्कृत बाल साहित्य

 👉    संस्कृत के आधुनिक गीतकारों की प्रतिनिधि रचनायें

 👉 soundcloud पर MP3 में संस्कृत गीत सुनें


  ➯  संस्कृत प्रतिभा खोज में भाग लेने हेतु कक्षा आधारित प्रतियोगिताओं के नाम

क्रम सं.

प्रतिभागियों की अर्हता

 संस्कृत प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का नाम

1

कक्षा 6 से 12 तक की छात्र/ छात्राएँ

(संस्कृत वाचन प्रतिभा खोज में संस्कृत विद्यालय के छात्र प्रतिभाग नहीं करेंगे)

संस्कृत गीत प्रतियोगिता (बाल वर्ग)

संस्कृत वाचन प्रतियोगिता

संस्कृत सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता

श्लोकान्त्याक्षरी प्रतियोगिता

अष्टाध्यायी कंठस्थपाठ प्रतियोगिता

अमरकोश कंठस्थपाठ प्रतियोगिता

लघुसिद्धान्तकौमुदी कंठस्थपाठ प्रतियोगिता

तर्कसंग्रह कंठस्थपाठ प्रतियोगिता         

 

2




3

स्नातक तथा स्नातकोत्तर कक्षा की छात्र/ छात्राएँ



कक्षा 6 से स्नातकोत्तर कक्षा की छात्र

संस्कृत गीत प्रतिभा खोज (युवा वर्ग)

संस्कृत भाषण प्रतियोगिता

श्रुतलेखन प्रतियोगिता

संस्कृत अभिनय प्रतिभा खोज

 

ऑनलाइन/ ऑफलाइन आवेदन करने की तिथि –        25 अगस्त 2023 तक

संस्कृत प्रतिभा खोज प्रतियोगिता की तिथि

जनपद स्तरीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिता -                      28 अगस्त से 11 सितम्बर 2023 तक

मंडल स्तरीय ऑनलाइन अर्हता परीक्षा -                       12 सितम्बर से 16 सितम्बर 2023 तक

मंडल स्तरीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिता -                       20 सितम्बर से 29 सितम्बर 2023 तक

राज्यस्तरीय प्रतिभा खोज हेतु ऑनलाइन अर्हता  परीक्षा -  05 अक्टूबर से 12 अक्टूबर 2023 तक

राज्यस्तरीय संस्कृत प्रतिभा खोज प्रतियोगिता -              28 - 29 अक्टूबर 2023

प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का आयोजन स्थल

1

जिलास्तरीय प्रतियोगिता

जिला विद्यालय निरीक्षक / संयोजक द्वारा निर्धारित स्थल पर

2

मण्डलस्तरीय प्रतियोगिता

उप निरीक्षक संस्कृत पाठशाला / संयोजक द्वारा निर्धारित स्थल पर

3

राज्यस्तरीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिता

 उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान द्वारा लखनऊ में निर्धारित स्थान पर

 

जनपद स्तरीय प्रतियोगिताओं की पुरस्कार राशि का विवरण

                                                            प्रथम      द्वितीय   तृतीय      

1. संस्कृत गीत प्रतियोगिता (बाल वर्ग)      1000    800     700    

2. संस्कृत वाचन प्रतियोगिता                    1000    800     700

3. संस्कृत सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता          1000    800     700


    
 

 

मण्डल स्तरीय  5 प्रतियोगिताओं में पुरस्कार राशि का विवरण

                                                              प्रथम   द्वितीय   तृतीय        

1. संस्कृत गीत प्रतियोगिता (बाल वर्ग)      3000    2000    1000

2. संस्कृत गीत प्रतियोगिता (युवा वर्ग)       3000    2000    1000        

3. संस्कृत वाचन प्रतियोगिता                    3000    2000    1000

4. संस्कृत सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता          3000    2000     1000     

5. श्लोकान्त्याक्षरी प्रतियोगिता                  3000    2000    1000



➯ राज्य स्तरीय  12 प्रतियोगिताओं में पुरस्कार राशि

प्रथम   

द्वितीय 

  तृतीय

  सान्त्वना  (कुल 3)

11,000   

7,000   

5,000  

3,000

जनपद स्तर पर कुल पुरस्कार राशि- तीन प्रतियोगिताएँ      7500 x 75 जनपद = 5,62,500.00

मंडल स्तर पर कुल पुरस्कार राशि-                                   30000 x 18 मंडल = 5,40,000.00

राज्य स्तर पर कुल पुरस्कार राशि                                     32,000 x 12 प्रतियोगिता = 3,84,000.00

योग-     14,86,500.00


  

👉 मुख्य बिन्दु-

1. संस्कृत गीत प्रतियोगिता (बाल वर्ग)   2. संस्कृत वाचन प्रतियोगिता 3. संस्कृत सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता  जनपद, मण्डल एवं  राज्यस्तर पर आयोजित होगी।

1. संस्कृत गीत प्रतियोगिता (बाल एवं युवा वर्ग)      2. खोज  संस्कृत वाचन प्रतियोगिता 3. संस्कृत सामान्य ज्ञान  प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता तथा 4. श्लोकान्त्याक्षरी प्रतियोगिता मण्डल एवं  राज्य स्तर पर आयोजित होगी।

प्रतिभागियों की संख्या को देखते हुए इसे दो दिनों में भी सम्पन्न कराया जा सकेगा।

शेष 7 प्रतियोगिता (संस्कृत भाषण, श्रुतलेखन, अष्टाध्यायी कंठस्थपाठ, अमरकोश कंठस्थपाठ (प्रथम काण्ड), लघुसिद्धान्तकौमुदी कंठस्थपाठ, तर्कसंग्रह कंठस्थपाठ, संस्कृत अभिनय) केवल राज्य स्तर पर होगी, जिसके लिए मंडल स्तरीय ऑनलाइन अर्हता परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य होगा।

मंडल स्तरीय प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने के लिए ऑनलाइन अर्हता परीक्षा का भी विकल्प होगा। जो छात्र/ छात्राएँ जनपदस्तरीय प्रतियोगिता स्थल तक जाने में असमर्थ हों, वे ऑनलाइन अर्हता परीक्षा में प्रतिभाग कर मंडल स्तरीय प्रतियोगिता में प्रतिभाग कर सकेंगे।

जनपदस्तरीय प्रतियोगिता में प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र एवं छात्राएँ ही मण्डल स्तरीय  प्रतियोगिता में प्रतिभाग कर सकेंगे।

मण्डलस्तरीय प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त छात्र/छात्राएँ राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने हेतु अर्ह होंगे।

उत्तर प्रदेश में अध्ययनरत किसी भी विद्यालय, महाविद्यालय तथा विश्वविद्यालय के छात्र / छात्रायें प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कर सकते है। एक विद्यालय से एक प्रतियोगिता में अधिकतम 4 छात्र प्रतिभाग कर सकते हैं।

➯ अभिनय प्रतियोगिता को छोड़कर शेष में एक छात्र किसी दो प्रतियोगिता में ही भाग ले सकते है ।

उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों के विद्यालय तथा छात्र संस्थान की वेबसाइट से आवेदन पत्र  डाउनलोड कर ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन की भी सुविधा है।



 प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं हेतु सामान्य नियम:-

1.  संस्कृत प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में उत्तर प्रदेश के सभी शासकीय/अशासकीय/प्राइवेट जूनियर हाईस्कूल, हाईस्कूल, इण्टर कॉलेज, पब्लिक स्कूल, केन्द्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय, विद्यामन्दिर, गुरुकुल, संगीत विद्यालय, संस्कृत विद्यालय, महाविद्यालय तथा विश्वविद्यालय के सभी विषयों के छात्र/छात्रायें प्रतिभाग करेंगे।

2. प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं में भाग लेने के इच्छुक छात्र आवेदन पत्र में अपना नाम, कक्षा का नाम, विद्यालय का नाम, जनपद नाम, दूरभाष, फोटो आदि विवरण पूरित करने के बाद उसे संस्था प्रमुख से प्रमाणित करा लें। इस आवेदन पत्र को प्रतिभा खोज प्रतियोगिता के 2 दिन पूर्व जनपद स्तर पर प्रतिभा खोज प्रतियोगिता आयोजित कराने वाली आयोजक संस्था/ संयोजक के पास जमा करेंगे। प्रत्येक प्रतिभा खोज प्रतियोगिता के लिये अलग-अलग आवेदन पत्र पूरित करना होगा। विशेष परिस्थितियों में आवेदन पत्र निर्धारित प्रारूप में हाथ से भी लिखकर पूरित कर सकते हैं। विद्यालय अपने छात्रों के आवेदन को संकलित कर प्रतिभा खोज प्रतियोगिता के 2 दिन पूर्व आयोजक संस्था/ जनपद संयोजक के पास जमा करेंगे।

3. प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने के लिए निर्धारित तिथि तक ऑनलाइन आवेदन का भी विकल्प उपलब्ध होगा।

4. जनपदस्तरीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र एवं छात्रायें ही मण्डलस्तरीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में प्रतिभाग कर सकेंगे।

5. जनपद स्तरीय, मण्डलस्तरीय एवं राज्यस्तरीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कार की राशि उनके अथवा उनके माता पिता के बैंक खाते में अंतरित की जायेगी। प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का प्रमाण-पत्र संयोजक के माध्यम से उपलब्ध कराया जाएगा।

6. जनपद स्तरीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए सभी संस्थाऐं छात्र/छात्राओं के यात्रा व्यय, आवास एवं भोजन आदि की व्यवस्था अपने स्तर से करेंगे।

7. जनपद स्तरीय, मण्डल स्तरीय एवं राज्य स्तरीय सभी प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं में प्रतिभागी छात्र/छात्राओं की सुरक्षा, अनुशासन, आवागमन व उनकी वस्तुओं की सुरक्षा का दायित्व सम्बद्ध संस्थाओं का होगा।

8. मंडल स्तरीय तथा राज्य स्तरीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले प्रतिभागियों तथा उनके साथ आने वाले एक अध्यापक/ अभिभावक को संस्थान के नियमानुसार यात्रा व्यय प्रदान किया जाएगा ।

9. राज्य स्तरीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले प्रतिभागियों तथा उनके साथ आने वाले एक अध्यापक/ अभिभावक के भोजन व आवास की व्यवस्था की जाएगी। इसके अतिरिक्त अन्य धनराशि देय नहीं होगी।

10. मण्डल स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागी ही राज्यस्तर पर प्रतिभाग करेंगे, जबकि ऑनलाइन माध्यम से अर्हता परीक्षा उत्तीर्ण प्रतिभागी मण्डल तथा राज्य स्तर की प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कर सकेंगें।

11. एक प्रतिभागी अधिकतम 02 प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं में ही प्रतिभाग कर सकता है। संस्कृत नाटक प्रतिभा खोज प्रतियोगिता को छोड़कर अन्य एक प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में एक विद्यालय/ महाविद्यालय के अधिकतम 4 छात्र/ छात्राओं को ही प्रवेश दिया जाएगा।

12. जो प्रतिभागी राज्य स्तर के जिस प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त कर चुका हो, वह पुनः उस प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने हेतु अनर्ह होगा।

13. संस्कृत गीत प्रतिभा खोज प्रतियोगिता (बाल वर्ग) में प्रतिभागी द्वारा वाद्य यंत्रों का प्रयोग वर्जित है। युवा वर्ग का प्रतिभागी वाद्य यंत्रों के साथ संस्कृत गीत का गायन कर सकेगें।

14. सभी प्रतिभा खोज प्रतियोगितायें पूर्णरूप से संस्कृत भाषा में ही होंगी। प्रतिभागी लिखित सामग्री देखकर प्रतियोगिता नहीं देंगे।

15. प्रतिभा खोज प्रतियोगिता के विषय भारतीय संस्कृति, साहित्य एवं राष्ट्रीय एकता को पुष्ट करने वाले होने चाहिये तथा प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं में किसी भी प्रकार का राष्ट्रविरोध, व्यक्तिविशेष विरोध या राजनैतिक आक्षेप प्रदर्शित करना सर्वथा निषिद्ध है।

16. नाटक प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में एक या एक से अधिक विद्यालय का दल प्रतिभाग करेगा। संस्कृत सामान्य ज्ञान प्रतिभा खोज में एक विद्यालय से दो छात्र का एक समूह मिलकर प्रश्न का उत्तर दे सकता है। अन्य प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं में सामूहिक प्रस्तुति की अनुमति नहीं दी जाएगी।

17. जनपद स्तर की प्रतिभा खोज प्रतियोगिताओं का निर्णय 2 निर्णायकों तथा मण्डल एवं राज्य स्तरीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिताएं 03 निर्णायकों के द्वारा प्रदत्त अंकों के योग के आधार पर किया जायेगा। निर्णायकों का निर्णय सर्वमान्य एवं अन्तिम होगा। यही नियम ऑनलाइन अर्हता परीक्षा पर भी लागू होगा।

18. जनपद संयोजक, मण्डल संयोजक एवं निर्णायक अपने स्तर पर किसी भी प्रकार के नियमों का निर्धारण नहीं करेंगे।

19. सभी प्रतिभा खोज प्रतियोगिताएं जनपद संयोजक, मण्डल संयोजक, संचालन समिति तथा सम्बद्ध अधिकारियों के निर्देशन में सम्पन्न होंगी तथा उनके निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा। किसी भी अनुशासन हीनता की स्थिति में प्रतिभागी को प्रतिभा खोज प्रतियोगिता के लिए अनर्ह माना जाएगा।

20. विशेष परिस्थितियों में नियम परिवर्तन का अधिकार अध्यक्ष/निदेशक, उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान, लखनऊ के पास सुरक्षित होगा।



 प्रतिभा खोज प्रतियोगिता आधारित नियम

 1. एकल संस्कृत गीत प्रतिभा खोज प्रतियोगिता (बाल एवं युवा वर्ग)

(क) संस्कृत एकल प्रतिभा खोज प्रतियोगिता के मूल्यांकन में (संगीत) स्वर एवं ताल (40 अंक), उच्चारण (20 अंक), गीत की विषय वस्तु (20 अंक),  प्रस्तुति (20 अंक) कुल 100 अंक होंगे।

(ख) एकल गीत की अवधि अधिकतम 05 मिनट की होगी।

(ग) गीत को कंठस्थ कर गायन करना होगा।

(घ) गीतों का चयन प्रतिभागी स्वयं कर सकते हैं। प्रतिभागी द्वारा विद्यालय नाम सहित चयनित गीत की 03 टंकित प्रति प्रस्तुति से पूर्व उपलब्ध कराना अनिवार्य होगा।

(ङ) संस्कृत गीत प्रतिभा खोज परीक्षा में स्तोत्र गायन स्वीकार नहीं किया जाएगा। मंडल स्तर की प्रतिभा खोज परीक्षा में प्रतिभागिता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिभागी जनपद स्तर पर ऑनलाइन अर्हता परीक्षा दे सके हैं।

2. संस्कृत सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता

टीम संरचना: जनपद स्तर पर प्रत्येक टीम में दो (2) छात्र होना चाहिए। प्रत्येक टीम को कतारबद्ध / गोलाकार बैठेगें।

परीक्षा राउंड: इसे 10 राउंड से 20 राउंड तक संचालित किया जा सकता है।

सामान्य ज्ञान प्रतिभा खोज परीक्षा जनपद पर 1 स्तर, मंडल स्तर पर द्वितीय स्तर तथा राज्य स्तर पर तृतीय स्तर की परीक्षा होगी।

प्रश्न : प्रत्येक टीम से संस्कृत (भाषा, विषय तथा सामान्य ज्ञान) से सम्बन्धित एक- एक प्रश्न पूछा जाएगा। टीम को 30 सेकेंड के भीतर उत्तर देना होगा अथवा आगे की टीम से पूछने को कह सकता है।

अंक : सभी प्रश्न 2 अंकों का होगा। सही उत्तर देने वाले टीम के आगे अंक अंकित किया जाएगा।

निष्कासन : किसी तीन राउंड में लगातार गलत उत्तर देने अथवा उत्तर नहीं देने वाले टीम को परीक्षा से बाहर किया जाएगा ।

(ख) प्रतिभा खोज परीक्षा की अवधि का निर्धारण निर्णायक अपने विवेक से कर सकेंगे ।

(ग) पुरस्कार की धनराशि विजेता टीम को संयुक्त रूप से दी जाएगी।

👉 निर्णय प्रक्रिया-      

(क) निर्णायकों के पास लिखित संस्कृत सामान्य ज्ञान का प्रश्नोत्तर होगा। इसमें संस्कृत भाषा, विषय तथा सामान्य ज्ञान से सम्बन्धित प्रश्न होंगें। निर्णायक इसी से प्रश्न करेंगें। तीन दल को प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्थान घोषित करने का पर्याप्त आधार मौजूद हो जाने के उपरान्त परीक्षा समापन की घोषणा की जा सकती है।

3. संस्कृत गद्य वाचन प्रतियोगिता

 (क) संस्कृत गद्य वाचन प्रतिभा खोज परीक्षा के मूल्यांकन में वाचन शैली (40), शुद्धोच्चारण (30), भावानुकूलता (15), प्रभावोत्पादकता (15) कुल 100 अंक होंगे।

(ख) प्रतिभा खोज परीक्षा की अवधि 05 मिनट की होगी ।

👉 निर्णय प्रक्रिया-                  

(क) प्रतिभागी को गद्य में लिखित संस्कृत की कोई भी ऐसी पुस्तक / पत्रिका अथवा मुद्रित पृष्ठ वाचन हेतु दिया जाएगा, जिसमें 5 मिनट तक की वाचन सामग्री होगी।

(ख) प्रतिभागी द्वारा वाचन शैली (शब्दों की गति, यति, भावों के अनुकूल ध्वनियों के उचित आरोह- अवरोह, विराम, प्रवाह, बलाघात) शब्दों के शुद्धोच्चारण, भावानुकूलता (अर्थ की प्रतीति, रसात्मकता, आत्मविश्वास), प्रभावोत्पादकता (वाचन मुद्रा) के आधार पर निर्णायक अंक प्रदान करेंगें।

4. श्लोकान्त्याक्षरी प्रतियोगिता

👉 मंडल स्तर तथा राज्य स्तर की श्लोकान्त्याक्षरी प्रतिभा खोज परीक्षा होगी। मंडल तथा राज्य स्तर की प्रतिभा खोज परीक्षा अनुष्टुप्छन्द के श्लोकों को छोड़कर अन्य छन्दों के श्लोंकों पर आयोजित की जाएगी। विशेष परिस्थिति में प्रतिभा खोज परीक्षा के शीघ्र निर्णय हेतु निर्णायक अनुष्टुप्छन्द के आधार पर प्रतिभा खोज परीक्षा का संचालन कर सकेंगे। यह परीक्षा पाठ्यपुस्तकों के श्लोकों के आधार पर होगी । इसके निर्णय हेतु साहित्य, व्याकरण तथा ज्योतिष विषयों के विशेषज्ञों को निर्णायक के रूप में रखा जाएगा। श्लोकान्त्याक्षरी प्रतिभा खोज परीक्षा में निर्णायकों द्वारा प्रतिभा खोज परीक्षा को शीघ्र पूर्ण कराने हेतु नियमों में बदलाव किया जा सकता है। इन्हीं नियमों का पालन सभी स्तर पर किया जायेगा।

 (क) श्लोकान्त्याक्षरी प्रतिभा खोज परीक्षा में समस्त प्रतिभागी छात्र गोलाकार में बैठेंगे। प्रथम श्लोक का उच्चारण किसी एक निर्णायक द्वारा किया जायेगा। यदि किसी श्लोक का अन्तिम व्यंजन वर्ण म् होता है तो प्रतिभागी उसके पूर्ववर्ती व्यंजन वर्ण से श्लोक बोलेंगे। शेष अन्तिम व्यंजन के आधार पर प्रतिभा खोज परीक्षा संचालित होगी। गोलाकार में बैठे एक प्रतिभागी के बाद दूसरे प्रतिभागी, दूसरे प्रतिभागी के बाद तीसरे प्रतिभागी के क्रम से यह प्रतिभा खोज परीक्षा अनवरत चलेगी।

(ख) यदि किसी श्लोक के अन्त में ङ, , , , , , , थ वर्ण आते हैं तो उसके पूर्ववर्ती हलन्त वर्ण से आगामी प्रतिभागी श्लोकोच्चारण करेगा।

(ग) विशेष परिस्थिति में निर्णायक श्लोक के अन्तिम स्वर वर्ण से प्रतिभा खोज परीक्षा का संचालन कराने का निर्णय ले सकता हैं।

(घ) एक प्रतिभागी के श्लोकोच्चारण करने तथा श्लोक के अन्तिम अक्षर से आगामी प्रतिभागी के श्लोकोच्चारण आरम्भ किये जाने के मध्य अधिकतम एक मिनट का समय दिया जायेगा। एक मिनट के अन्दर किसी प्रतिभागी द्वारा श्लोकाच्चारण आरम्भ नहीं करने की स्थिति में उसका एक अवसर समाप्त माना जायेगा। निर्णायक समय सीमा को और भी कम कर सकेंगे।

(ङ) श्लोकान्त्याक्षरी में आवश्यक होने पर प्रतिभागी को श्लोक का स्रोत बताना होगा। अन्यथा उसके द्वारा उच्चारित श्लोक को निर्णायक अमान्य घोषित करेंगे।

(च) श्लोकों के अशुद्ध उच्चारण करने की स्थिति में निर्णायक वैकल्पिक श्लोक बोलने हेतु अवसर दे सकेंगे। किसी प्रतिभागी द्वारा निरन्तर अशुद्ध उच्चारण करने पर उसके अवसरों में कटौती की जा सकेगी।

(छ) प्रत्येक प्रतिभागी को तीन अवसर प्रदान किये जायेंगे। प्रतिभा खोज परीक्षा के अन्तिम चरण में निर्णायकों द्वारा पृथक्-पृथक्छन्दों, श्लोक के अन्तिम स्वर सहित व्यंजन वर्ण के आधार पर, श्लोक के किसी पाद के अन्तिम अक्षर से प्रतिभा खोज परीक्षा के संचालन का निर्देश दे सकते हैं। अतः प्रतिभागी प्रतिभा खोज परीक्षा में प्रतिभाग करने के लिए पूर्णतः तैयार होकर आयें।

(ज) प्रतिभा खोज परीक्षा के अन्त में अवशिष्ट 03 प्रतिभागियों में से किसी 01 के बाहर होने पर उसे तृतीय स्थान तथा 02 में से एक के बाहर होने पर उसे द्वितीय स्थान अन्त में अवशिष्ट प्रतिभागी को प्रथम स्थान दिया जायेगा।

(झ) श्लोक के अन्त में संयुक्त वर्ण आने पर संयुक्ताक्षर के अन्तिम अक्षर से आगामी प्रतिभागी श्लोक बोलेंगे। यथा - विद्या में य अक्षर से।

(ञ) श्लोकान्त्याक्षरी प्रतिभा खोज परीक्षा में एक श्लोक को एक ही बार उच्चारण किया जायेगा।

 

5.  संस्कृत भाषण प्रतियोगिता

(क) संस्कृत भाषण प्रतिभा खोज परीक्षा के मूल्यांकन में विषयवस्तु (50 अंक), भाषा शुद्धता (30 अंक) एवं प्रस्तुति (20 अंक) कुल 100 अंक होंगे।

(ख) संस्कृत भाषण की अवधि 03 मिनट होगी।

(ग) संस्कृत भाषण का विषय प्रतिवर्ष निर्धारित होगा।

6. श्रुतलेखन प्रतियोगिता                             

(क) इस प्रतिभा खोज परीक्षा का पूर्णांक 100 होगा। इसमें प्रतिभागी को गद्यांश या श्लोक सुनकर लिखना होगा। निर्णायक श्रुतलेख के वाक्य या वाक्यांश का दो बार उच्चारण करेंगे।

(ख) प्रतिभागियों के श्रुतलेख में प्रति वर्ण त्रुटि के लिए एक-एक अंक काटा जाएगा।

(ग) प्रतिभागी द्वारा अपूर्ण श्रुतलेख लिखने पर 100 अंकों से प्रतिवर्ण त्रुटि के वर्ण काट लेने पश्चात् अवशिष्ट अंक से 20 अंक काटकर प्रतिभा खोज परीक्षा का निर्णय किया जाएगा।

 

शास्त्रीय स्पर्द्धा (दो निर्णायकों द्वारा निर्णय किया जाएगा।)

7. अष्टाध्यायी कंठस्थपाठ प्रतियोगिता

(क) अष्टाध्यायी कंठस्थ पाठ प्रतिभा खोज परीक्षा के मूल्यांकन में कंठस्थ पाठ  (70 अंक), उच्चारण एवं गति (20 अंक), सामान्य जानकारी (10 अंक) कुल 100 अंक होंगे।

(ख) प्रतिभा खोज परीक्षा की अवधि निर्णायक के निर्देशानुसार तय की जाएगी ।

👉 निर्णय प्रक्रिया-

प्रथम क्रम - क्रमशः सभी निर्णायकों द्वारा किसी सूत्र को उच्चारित कर प्रतिभागी से आगे सुनाने को कहा जायेगा।

द्वितीय क्रम - प्रतिभागी पुस्तक में शलाका प्रवेश करेगा, उस स्थल के आगे-पीछे से निर्णायकों द्वारा संकेत करने पर सुनाना होगा।

तृतीय क्रम- निर्णायकों द्वारा सम्बन्धित ग्रन्थ से सामान्यज्ञान परक कुल 5 प्रश्न पूछे जायेंगे।

8. अमरकोश कंठस्थपाठ प्रतियोगिता 

(क) अमरकोश कंठस्थ पाठ प्रतिभा खोज परीक्षा के मूल्यांकन में कंठस्थ पाठ  (70 अंक), उच्चारण एवं गति (20 अंक), सामान्य जानकारी (10 अंक) कुल 100 अंक होंगे।

(ख) प्रतिभा खोज परीक्षा की अवधि निर्णायक के निर्देशानुसार तय की जाएगी ।

👉 निर्णय प्रक्रिया-

प्रथम क्रम - क्रमशः सभी निर्णायकों द्वारा किसी श्लोक को उच्चारित कर प्रतिभागी से आगे सुनाने को कहा जायेगा।

द्वितीय क्रम - प्रतिभागी पुस्तक में शलाका प्रवेश करेगा, उस स्थल के आगे-पीछे से निर्णायकों द्वारा संकेत करने पर सुनाना होगा।

तृतीय क्रम- निर्णायकों द्वारा सम्बन्धित ग्रन्थ से सामान्यज्ञान परक कुल 5 प्रश्न पूछे जायेंगे।

इस प्रतिभा खोज परीक्षा हेतु अमरकोष का प्रथम काण्ड निर्धारित है। एक से अधिक प्रतिभागी द्वारा  सम्पूर्ण अमरकोष का प्रथम काण्ड सुना देने की स्थिति में उनके मध्य द्वितीय तथा तृतीय काण्ड की प्रतिभा खोज परीक्षा कराकर प्रथम, द्वितीय आदि पुरस्कार का निर्णय किया जाएगा। 

9. लघुसिद्धान्तकौमुदी कंठस्थपाठ प्रतियोगिता

(क) लघुसिद्धान्तकौमुदी कंठस्थ पाठ प्रतिभा खोज परीक्षा के मूल्यांकन में कंठस्थ पाठ  (70 अंक), उच्चारण एवं गति (30 अंक), सामान्य जानकारी (10 अंक) कुल 100 अंक होंगे।

(ख) प्रतिभा खोज परीक्षा की अवधि निर्णायक के निर्देशानुसार तय की जाएगी ।

👉 निर्णय प्रक्रिया-

प्रथम क्रम - क्रमशः सभी निर्णायकों द्वारा किसी सूत्र, वृत्ति या उदाहरण को उच्चारित कर प्रतिभागी से आगे सुनाने को कहा जायेगा।

द्वितीय क्रम - प्रतिभागी पुस्तक में शलाका प्रवेश करेगा, उस स्थल के आगे-पीछे से निर्णायकों द्वारा संकेत करने पर सुनाना होगा।

तृतीय क्रम- निर्णायकों द्वारा सम्बन्धित ग्रन्थ से सामान्यज्ञान परक कुल 5 प्रश्न पूछे जायेंगे।

कक्षा 6 से 8 (प्रथमा) के छात्र / छात्राओं को अजन्तनपुंसकलिंग प्रकरण तक, कक्षा 9 तथा 10 (पूर्वमध्यमा) के छात्र / छात्राओं को तिङन्तप्रकरण तक तथा कक्षा 11 तथा 12 (उत्तरमध्यमा) के छात्र / छात्राओं को सम्पूर्ण ग्रन्थ कंठस्थ होना चाहिए।

10. तर्कसंग्रह कंठस्थपाठ प्रतियोगिता

(क) तर्कसंग्रह कंठस्थ पाठ प्रतिभा खोज परीक्षा के मूल्यांकन में कंठस्थ पाठ  (70 अंक), उच्चारण एवं गति (20 अंक), सामान्य जानकारी (10 अंक) कुल 100 अंक होंगे।

(ख) प्रतिभा खोज परीक्षा की अवधि निर्णायक के निर्देशानुसार तय की जाएगी ।

👉 निर्णय प्रक्रिया-

प्रथम क्रम - क्रमशः सभी निर्णायकों द्वारा पुस्तक के किसी अंश को उच्चारित कर प्रतिभागी से आगे सुनाने को कहा जायेगा।

द्वितीय क्रम - प्रतिभागी पुस्तक में शलाका प्रवेश करेगा, उस स्थल के आगे-पीछे से निर्णायकों द्वारा संकेत करने पर सुनाना होगा।

तृतीय क्रम- निर्णायकों द्वारा सम्बन्धित ग्रन्थ से सामान्यज्ञान परक कुल 5 प्रश्न पूछे जायेंगे।

एक से अधिक प्रतिभागी द्वारा  सम्पूर्ण तर्कसंग्रह सुना देने की स्थिति में उनके मध्य पदकृत्य सहित तर्कसंग्रह प्रतिभा खोज प्रतियोगिता कराकर प्रथम, द्वितीय आदि पुरस्कार का निर्णय किया जाएगा।     

11. संस्कृत अभिनय प्रतियोगिता                   

(क) संस्कृत अभिनय प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का मूल्यांकन अभिनय, भावप्रवणता (25 अंक) उच्चारण एवं सम्भाषण,  (25 अंक), वेषभूषा, मंच सज्जा (25 अंक), कथ्य-कथानक (25 अंक) के आधार पर होगा। इसमें 6 श्रेणी के पुरस्कार होंगें।

(ख) प्रथम, द्वितीय  एवं तृतीय श्रेणी के अन्तर्गत 100 अंक में प्रथम, द्वितीय  एवं तृतीय स्थान अंक प्राप्त करने वाले नाटक दल को पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।

(ग) अन्य श्रेणी का मूल्यांकन के लिए पूर्णांक 25 निर्धारण होगा।

(घ) यह सामूहिक तथा व्यक्तिगत प्रतिभा खोज परीक्षा होगी।

(ङ) प्रतिभा खोज परीक्षा की अधिकतम अवधि 30 मिनट की होगी ।

प्रथम श्रेणी

सबसे उत्कृष्ट नाटक को

द्वितीय  श्रेणी

द्वितीय स्थान प्राप्त नाटक को

  तृतीय श्रेणी

तृतीय स्थान प्राप्त नाटक को

  चतुर्थ, पंचम तथा षष्ठम श्रेणी

वेषभूषा                 (सर्वोत्कृष्ट एक नाटक को)

अभिनय, भावप्रवणता (सर्वोत्कृष्ट एक अभिनेता को)

उच्चारण एवं सम्भाषण (सर्वोत्कृष्ट एक अभिनेता को)

11,000   

7,000   

5,000  

3,000

नाटक प्रतिभा खोज परीक्षा के लिए एक आवेदन पत्र पर सभी प्रतिभागियों का नाम लिखा जाये।

निर्णय प्रक्रिया-

(क) प्रतिभागी दल स्वेच्छा से संस्कृत भाषा में कोई काल्पनिक, सामाजिक, वैज्ञानिक, ऐतिहासिक, चरित्र प्रधान नाटक की प्रस्तुति दे सकता है।

(ख) नाट्य दल को प्रतिभा खोज परीक्षा के पूर्व नाटक के आलेख की एक मुद्रित प्रति निर्णायक को उपलब्ध करना होगा।

(ग) प्रत्येक अक्षर के उच्चारण की शुद्धता, सम्वाद  के भाव, विचार, मन्तव्य और पात्र की मनोदशा के अनुरूप विशिष्ट शब्दों पर बल देना तथा उसी के अनुरूप ध्वन्यात्मक आरोह-अवरोह, अभिनेता का आत्मविश्वास, बोले जा रहे सम्वाद और क्रिया में उसकी तल्लीनता, दृश्यानुकूल मंच सज्जा, पात्रानुकूल वेशभूषा, नाटक का कथ्य, कहानी/आलेख, मंच पर पात्रों के अभिनय का संयोजन यथा- मंच पर पात्रों का प्रवेश, प्रस्थान, मंच पर उनकी गति-स्थिति का निर्धारण के आधार पर निर्णायक अंक प्रदान करेंगे।

 संस्कृत प्रतिभा खोज के अवयव

1.  संचालन समिति         2. जनपद तथा मंडल संयोजक      3. प्रतिभा खोज परीक्षा स्थल        4. निर्णायक

5. प्रतिभा खोज परीक्षा हेतु आवेदन पत्र, निर्णायक पत्र, निर्णय पत्र, प्रमाणपत्र, अध्ययन सामग्री आदि

6. प्रतिभा खोज का डिजिटल प्रबन्धन

  संस्कृत प्रतिभा खोज के आयोजनार्थ महत्वपूर्ण कार्य

संचालन समिति का कार्य

1.    संचालन समिति में 4 सदस्य होंगे।

2.    जनपद संयोजक तथा मंडल संयोजक का चयन करना तथा उसकी एकीकृत सूची तैयार करना।

3.    जनपद संयोजक तथा मंडल संयोजक के कार्यों की देख रेख तथा मार्गदर्शन।

4.    जनपद के विद्यालयों तथा छात्रों का एकीकृत डाटाबेस तैयार कर उनसे सम्पर्क करने हेतु संयोजकों को उपलब्ध कराना।

5.    जनपद संयोजक, मंडल संयोजक से प्रतिभा खोज परीक्षाओं के आयोजन स्थल, प्रतिभा खोज परीक्षा आयोजन तिथि आयोजक विद्यालयों के बैंक विवरण, बिल वाउचर प्राप्त कर एकीकृत सूची तैयार करना।

6.    जनपद, मंडल तथा राज्य स्तरीय प्रतिभा खोज परीक्षाओं के निर्णायकों के चयन में संयोजकों का मार्गदर्शन तथा उनसे निर्णायकों का नाम, पदनाम, बैंक विवरण प्राप्त कर एकीकृत सूची तैयार करना।

7.    जनपद, मंडल एवं राज्य स्तर पर प्रतिभा खोज परीक्षा में प्रतिभाग करने वाले तथा विजयी छात्रों का एकीकृत डाटा का निर्माण।

8.    जनपद, मंडल एवं राज्य स्तर पर प्रतिभा खोज परीक्षा में स्थान प्राप्त प्रतिभागियों के बैंक विवरण प्राप्त कर विवरण तैयार करना।

9.    प्रतिभा खोज परीक्षाओं के प्रचार-प्रसार सामग्री, आवेदन पत्र, प्रत्येक प्रतिभा खोज परीक्षा का निर्णायक पत्र, निर्णय पत्र, प्रमाण- पत्र का निर्माण तथा वितरण का कार्य ।

10. मंडल एवं राज्य स्तरीय प्रतिभा खोज परीक्षा की ऑनलाइन अर्हता परीक्षा का संचालन ।

11. जनपद, मंडल स्तरीय प्रतियोगिताओं की तैयारी, संचालन हेतु समय-समय पर समीक्षा करना।

12.  प्रतिभा खोज परीक्षाओं का सुचारू संचालन के लिए आवश्यक होने पर संस्थान से अनुमति प्राप्त कर प्रतियोगिता के निमित्त यात्रा करना।

13. मंडल स्तरीय अर्हता हेतु ऑनलाइन जनपद स्तरीय प्रतिभा खोज परीक्षा का आयोजन करना। राज्यस्तरीय प्रतियोगिता की अर्हता हेतु ऑनलाइन अर्हता परीक्षा का आयोजन करना।

14.  ऑनलाइन तथा ऑफलाइन प्रतिभा खोज परीक्षाओं में सफल प्रतिभागियों की एकीकृत सूची तैयार करना।

15. राज्य स्तरीय प्रत्येक प्रतिभा खोज परीक्षा हेतु अर्ह प्रतिभागियों की पृथक्-पृथक् सूची बनाना।

16. राज्य स्तर पर होने वाली प्रतियोगिताओं का संचालन करना।

17. प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र, पुरस्कार राशि तथा यात्रा व्यय उपलब्ध कराने तथा निर्णायकों, विद्यालयों एवं संयोजकों के देयकों के भुगतान में संस्थान का सहयोग करना।

जनपद, मण्डल तथा राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं के संयोजक का कार्य

 प्रत्येक जनपद तथा मण्डल में प्रतिभा खोज परीक्षाओं के प्रचार- प्रसार, प्रोत्साहन तथा आयोजन में सहयोग के लिए एक-एक संयोजक नामित किये जायेंगे। प्रत्येक जनपद तथा मण्डल संयोजक को प्रतिभा खोज परीक्षाओं के संयोजन कार्य हेतु संस्थान द्वारा निर्धारित मानदेय धनराशि दी जाएगी।

जनपद संयोजक का कार्य

1.    उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जनपद के लिए एक-एक जनपद संयोजक नामित किया जाएगा।

2.    जनपद संयोजक अपने जनपद में स्थित विद्यालयों, महाविद्यालयों तथा विश्वविद्यालय में प्रतिभा खोज का प्रचार, छात्रों तथा विद्यालयों से ऑफलाइन आवेदन प्राप्त करना तथा अधिकाधिक छात्रों को प्रतिभा खोज परीक्षा में प्रतिभाग करने हेतु प्रोत्साहित करना।

3.    विद्यालयों / छात्रों से प्राप्त आवेदन पत्र का परीक्षा से पूर्व ऑनलाइन डाटा इंट्री करना।

4.    जनपद में प्रतिभा खोज परीक्षा के आयोजनार्थ जिला विद्यालय निरीक्षक से सहयोग प्राप्त कर अपने जनपद के किसी विद्यालय का निर्धारण करना। प्रतिभागियों को प्रतिभा खोज परीक्षा स्थल की सूचना देना।

5.    प्रत्येक प्रतिभा खोज परीक्षा हेतु निर्णायकों का चयन करते हुए, आयोजक विद्यालय के माध्यम से आमंत्रित कराना।

6.    विद्यालय / महाविद्यालय के प्रधानाचार्य/ प्राचार्य के सहयोग से प्रतिभा खोज परीक्षा  सम्पन्न कराना।

7.    निर्णायकों तथा विजयी प्रतिभागियों का बैंक विवरण एकत्र करना।

8.  जनपद में आयोजित प्रतिभा खोज परीक्षा का निर्णायक प्रपत्र, निर्णय प्रपत्र, विद्यालय का व्यय विवरण, निर्णायकों, विजयी प्रतिभागियों, संयोजक तथा विद्यालय का बैंक विवरण, छायाचित्र संस्थान कार्यालय में प्रेषित करना। विजयी छात्रों को पुरस्कार की धनराशि देने हेतु छात्र/ छात्रा अथवा उनके माता पिता का बैंक खाता संख्या दिया जाय।

9.    जनपद में विजयी प्रतिभागियों का विवरण (निर्णायक द्वारा प्रदत्त अंक, स्थान तथा बैंक विवरण) ऑनलाइन इंट्री करना।

10. जनपद में आयोजित विजेता छात्र/छात्राओं के आवेदन पत्रों तथा प्रत्येक प्रतिभा खोज परीक्षा के निर्णय की छायाप्रति के साथ स्वयं के हस्ताक्षर करने के बाद प्रतिभा खोज परीक्षा की तिथि से कम से कम 5 दिन पूर्व मंडल में आयोजित प्रतिभा खोज के संयोजक को उपलब्ध कराना।

11. जनपद की प्रतिभा खोज परीक्षा में प्रथम, द्वितीय स्थान प्राप्त छात्र/छात्राओं को मण्डल स्तरीय प्रतिभा खोज परीक्षा में प्रतिभाग कराना।

12. प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र उपलब्ध कराना ।

13. संचालन समिति द्वारा समय-समय पर आहूत बैठक में प्रतिभाग करना तथा उनके द्वारा दिये गये निर्देशों को क्रियान्वित करना।

14. यदि किसी कारणवश जनपद में प्रतिभा खोज परीक्षा के आयोजनार्थ आयोजक संस्था का निर्धारण जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा नहीं हो पा रहा हो, ऐसी स्थिति में जनपद संयोजक द्वारा संस्थान कार्यालय तथा जिला विद्यालय निरीक्षक को सूचित कर आयोजक संस्था का चयन करना।

15.  प्रतिभागी छात्र / छात्राओं  को प्रतियोगिता से सम्बन्धित समस्त प्रकार की सहायता उपलब्ध कराना।

16. प्रत्येक जनपद संयोजक को परीक्षा के संयोजन, प्रचार, छात्रों तथा विद्यालयों से आवेदन की प्राप्ति आदि कार्यों हेतु रू. 6000.00 मात्र मानदेय दिया जाएगा। ( संयोजक के प्रयास से 60 प्रतिभागी होने पर रू. 5000 तथा 60 से अधिक होने पर 6000 दिया जाएगा)

मण्डल संयोजक का कार्य

1. संयुक्त शिक्षा निदेशक /जिला विद्यालय निरीक्षक/ उपनिरीक्षक संस्कृत पाठशालाऐं के सहयोग से प्रतिभा खोज परीक्षा के आयोजन हेतु अपने मंडल के किसी विद्यालय का चयन करना ।

2. राज्य स्तर पर होने वाली अन्य प्रतिभा खोज परीक्षाओं का प्रचार प्रसार करना, छात्र/ छात्राओं से ऑफलाइन आवेदन प्राप्त करना।

3. विद्यालयों / छात्रों से प्राप्त आवेदन पत्र को ऑनलाइन डाटा इंट्री करना।

4. जनपद संयोजकों / संचालन समिति से मंडल स्तरीय प्रतियोगिता हेतु अर्ह प्रतिभागियों की सूची प्राप्त कर प्रत्येक प्रतिभा खोज परीक्षा हेतु प्रतिभागियों की पृथक्-पृथक् सूची तैयार करना।

5. मण्डल स्तर पर प्रतिभा खोज परीक्षा में स्थान प्राप्त करने वालों प्रतिभागियों का विवरण (निर्णायक द्वारा प्रदत्त अंक, स्थान तथा बैंक विवरण) ऑनलाइन इंट्री करना।

6. मंडल की प्रतिभा खोज परीक्षाओं में विजयी छात्रों अथवा उनके माता पिता का बैंक विवरण, यात्रा व्यय विवरण, निर्णायक प्रपत्र, निर्णय प्रपत्र, निर्णायकों के मानदेय प्रपत्र, आयोजक विद्यालय का व्यय विवरण संकलित कर मुद्रित प्रति संस्थान में प्रेषित करना।

7. मंडल में आयोजित प्रतिभा खोज परीक्षा के प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र, मार्ग व्यय, निर्णायकों के मानदेय राशि, पुरस्कार राशि उपलब्ध कराने तथा ऑनलाइन प्रतिभा खोज परीक्षाओं के आयोजन में संचालन समिति का सहयोग करना ।

8. संचालन समिति द्वारा समय-समय पर आहूत बैठक में प्रतिभाग करना तथा उनके द्वारा दिये गये निर्देशों को क्रियान्वित करना।

9. प्रतिभागी छात्र / छात्राओं  को प्रतियोगिता से सम्बन्धित समस्त प्रकार की सहायता उपलब्ध कराना।

10. प्रत्येक मंडल संयोजक जनपद संयोजक के दायित्व का भी निर्वाह करेंगें। इन्हें परीक्षा के संयोजन, प्रचार, आवेदन की प्राप्ति, राज्य स्तरीय प्रतिभा खोज के आयोजन में सहयोग आदि कार्यों हेतु रू. 10,000.00 मात्र मानदेय दिया जाएगा।

जनपद स्तरीय प्रतियोगिता आयोजित कराने हेतु आयोजक विद्यालय/संस्था का कार्य

1.    जिला स्तर पर प्रतिभा खोज परीक्षा के आयोजनार्थ चयनित विद्यालय अपने जनपद के विद्यालयों में प्रतिभा खोज परीक्षा आयोजन की सूचना प्रेषित कर आवेदन प्राप्त करना।

2.    जिला स्तरीय प्रतिभा खोज परीक्षाओं के निर्णय हेतु निर्णायकों को आमंत्रित करना।

3.    प्रतिभा खोज परीक्षा हेतु बैनर निर्माण, फोटोग्राफी, छात्रों, निर्णायकों तथा अध्यापकों आदि के जलपान आदि की व्यवस्था कराना।

4.    प्रतिभा खोज परीक्षा के आयोजनार्थ विद्यालय में उपलब्ध आवश्यक संसाधन तथा जन सहयोग उपलब्ध कराना।

5.     जिला स्तर पर प्रतिभा खोज परीक्षा के आयोजन हेतु आयोजक विद्यालय / संस्था को बैनर निर्माण, फोटोग्राफी, स्टेशनरी, आतिथ्य आदि व्यवस्था के लिए उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान द्वारा रू. 10,000/- दिया जाएगा।

6.    प्रतिभा खोज परीक्षा के आयोजन के तुरन्त बाद आयोजक संस्था प्रत्येक बिल बाउचर को प्रमाणित कर जनपद संयोजक के माध्यम से अथवा सीधे डाक द्वारा उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान को उपलब्ध करायेंगे।

मंडल स्तरीय प्रतियोगिता आयोजित कराने हेतु आयोजक विद्यालय/संस्था का कार्य

1.    मंडल स्तरीय प्रतिभा खोज परीक्षाओं के निर्णय हेतु निर्णायकों को आमंत्रित करना।

2.    प्रतिभा खोज परीक्षा हेतु बैनर निर्माण, फोटोग्राफी, छात्रों, निर्णायकों तथा अध्यापकों आदि के लिए आवास, भोजन, जलपान आदि की व्यवस्था कराना।

3.    प्रतिभा खोज परीक्षा के आयोजनार्थ विद्यालय में उपलब्ध आवश्यक संसाधन तथा जन सहयोग उपलब्ध कराना।

4.    मंडल स्तर पर प्रतिभा खोज परीक्षा के आयोजन हेतु आयोजक विद्यालय / संस्था को बैनर निर्माण, फोटोग्राफी, स्टेशनरी, स्वच्छता, प्रतिभागियों तथा अभिभावकों के आवास, भोजन, जलपान आदि  के लिए उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान द्वारा आयोजन के उपरान्त रू. 15,000/- मात्र दिया जाएगा।

5.    प्रतिभा खोज प्रतियोगिता के आयोजन के तुरन्त बाद आयोजक संस्था प्रत्येक बिल बाउचर को प्रमाणित कर मण्डल संयोजक के माध्यम से/ सीधे डाक द्वारा उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान को उपलब्ध करायेंगे।

 

निर्णायकों का कार्य, चयन तथा उन्हें देय धनराशि

1. सभी 12 प्रतिभागिताओं के निर्णायक संस्कृत विषय के सेवारत/सेवानिवृत्त शिक्षक होंगे। संस्कृत शिक्षक की अनुपलब्धता पर संस्कृत के ज्ञाता भाषाशिक्षक को भी निर्णायक बनाया जा सकता है। संस्कृत गीत तथा संस्कृत नाटक प्रतिभा खोज परीक्षा में एक- एक निर्णायक संगीत तथा नाट्य विधा के क्षेत्र से जुड़ें हों।

2. जनपद, मण्डल तथा संचालन समिति स्वसंयोजित प्रतिभा खोज परीक्षा में निर्णायक नहीं होंगे तथा जिस विद्यालय के प्रतिभागी जिस प्रतिभा खोज परीक्षा में भाग लेंगे, उस विद्यालय के शिक्षक उस प्रतिभा खोज परीक्षा में निर्णायक नहीं होंगे।

3. प्रतिभा खोज परीक्षाओं का निर्णय संस्थान द्वारा उपलब्ध कराये गये प्रपत्र के प्रारूप के आधार पर किया जाएगा। प्रत्येक प्रतियोगिता के लिए एक-एक प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय पुरस्कार की ही घोषणा करेंगें।

4. प्रतिभा खोज परीक्षा की सफलता एवं प्रतिभासम्पन्न छात्रों का सम्मान, निर्णायक की योग्यता, पारदर्शिता और सत्यनिष्ठा पर ही निर्भर है। अतः निर्णायक प्रतिभा खोज परीक्षा के नियमानुसार न्यायोचित निर्णय लेंगे।

5. जनपद स्तर पर होने वाली तीन प्रतिभा खोज परीक्षाओं में दो- दो निर्णायक (कुल 6) होंगे। मंडल स्तर पर होने वाली 5 प्रतिभा खोज परीक्षाओं के तीन- तीन निर्णायक (9 से 15 तक) होंगें। जनपद तथा मंडल स्तरीय प्रतिभा खोज परीक्षा के प्रत्येक निर्णायक को रू. 2000/- मानदेय दिया जाएगा। जनपद तथा मंडल के निर्णायकों को पृथक् से मार्गव्यय देय नहीं होगा। कंठपाठ के 4 परीक्षाओं में 2-2 निर्णायक होंगें। शेष मंडल एवं राज्य स्तर पर आयोजित प्रत्येक प्रतिभा खोज परीक्षा में तीन- तीन निर्णायक होंगे। राज्यस्तरीय प्रत्येक निर्णायक को रू. 2000/- मानदेय, आतिथ्य तथा संस्थान नियमानुसार मार्गव्यय देय होगा।

ऑनलाइन अर्हता परीक्षा में भी बिन्दु संख्या 5 का अनुसरण किया जाएगा।

6. जनपद, मंडल या राज्य स्तरीय प्रतिभा खोज परीक्षाओं में एक से अधिक प्रतिभा खोज परीक्षा में निर्णायक की भूमिका का निर्वाह करने वाले निर्णायक को अधिकतम रू. 2000/- ही मानदेय धनराशि दी जाएगी।

5. प्रतिभा खोज प्रतियोगिता हेतु आवेदन पत्र, निर्णायक पत्र, निर्णय पत्र, प्रमाणपत्र, अध्ययन सामग्री आदि का निर्माण

प्रतिभा खोज परीक्षा हेतु आवेदन पत्र, पंपलेट, निर्णायक पत्र, निर्णय पत्र, प्रमाणपत्र, नियमावली आदि का निर्माण मुद्रण व वितरण कराने की आवश्यकता होगी।  संस्कृत सामान्य ज्ञान प्रतिभा खोज परीक्षा, संस्कृत गीत, संस्कृत श्रुतलेखन तथा संस्कृत वाचन प्रतियोगिता के लिए अध्ययन सामग्री का माड्यूल तैयार किया जाएगा, जिसके आधार पर छात्र परीक्षा की तैयारी कर सकेंगें। संस्कृत सामान्य ज्ञान प्रतिभा खोज परीक्षा में छात्रों के दैनिक उपयोग में आने वाले संस्कृत शब्दों के पर्यायवाची, विपरीतार्थक शब्द, शब्दों से वाक्य निर्माण, सूक्ति, सुभाषित, नीति, ग्रन्थ-ग्रन्थकार का नाम आदि प्रश्नों का निर्माण कराना । 

6. प्रतिभा खोज का डिजिटल प्रबन्धन

प्रतिभा खोज प्रतियोगिता के संचालन के लिए एक डायनमिक वेबपोर्टल निर्मित कराया जाएगा। इसमें परीक्षा में प्रतिभाग करने के इच्छुक छात्र पंजीकरण करा सकेंगें। वेबपोर्टल पर परीक्षा आयोजक विद्यालयों, निर्णायकों, संयोजकों की सूची, परीक्षा तिथि, परिणाम, सहायता, विजेता छात्रों, निर्णायकों, संयोजकों को बैंक विवरण उपलब्ध कराने की सुविधा, अध्ययन सामग्री, सोशल मिडिया लिंक उपलब्ध होंगे। प्रत्येक जनपद तथा मंडल के संयोजकों को लॉगिन आई डी उपलब्ध कराया जाएगा। वे लॉगिन कर आवेदन पत्र, बैंक विवरण, निर्णय प्रपत्र आदि भर सकेंगें, अग्रसारित कर सकेंगें, अपलोड कर सकेंगें। इसके माध्यम से आवेदन से लेकर भुगतान तक की स्थिति देखने की सुविधा होगी।

Share:

ब्लॉग की सामग्री यहाँ खोजें।

लोकप्रिय पोस्ट

जगदानन्द झा. Blogger द्वारा संचालित.

मास्तु प्रतिलिपिः

इस ब्लॉग के बारे में

संस्कृतभाषी ब्लॉग में मुख्यतः मेरा
वैचारिक लेख, कर्मकाण्ड,ज्योतिष, आयुर्वेद, विधि, विद्वानों की जीवनी, 15 हजार संस्कृत पुस्तकों, 4 हजार पाण्डुलिपियों के नाम, उ.प्र. के संस्कृत विद्यालयों, महाविद्यालयों आदि के नाम व पता, संस्कृत गीत
आदि विषयों पर सामग्री उपलब्ध हैं। आप लेवल में जाकर इच्छित विषय का चयन करें। ब्लॉग की सामग्री खोजने के लिए खोज सुविधा का उपयोग करें

समर्थक एवं मित्र

सर्वाधिकार सुरक्षित

विषय श्रेणियाँ

ब्लॉग आर्काइव

संस्कृतसर्जना वर्ष 1 अंक 1

संस्कृतसर्जना वर्ष 1 अंक 2

संस्कृतसर्जना वर्ष 1 अंक 3

Sanskritsarjana वर्ष 2 अंक-1

Recent Posts

लेखानुक्रमणी

लेखाभिज्ञानम्

अभिनवगुप्त (1) अलंकार (3) आधुनिक संस्कृत गीत (7) आधुनिक संस्कृत साहित्य (4) उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान (1) उत्तराखंड (1) ऋग्वेद (1) ऋतु (1) ऋषिका (1) कणाद (1) करण (2) करवा चौथ (1) कर्मकाण्ड (37) कहानी (1) कामशास्त्र (1) कारक (1) काल (2) काव्य (13) काव्यशास्त्र (26) काव्यशास्त्रकार (1) कुमाऊँ (1) कूर्मांचल (1) कृदन्त (3) कोजगरा (1) कोश (12) गंगा (1) गया (1) गाय (1) गीति काव्य (1) गृह कीट (1) गोविन्दराज (1) ग्रह (1) चरण (1) छन्द (6) छात्रवृत्ति (1) जगत् (1) जगदानन्द झा (3) जगन्नाथ (1) जीवनी (5) ज्योतिष (19) तकनीकि शिक्षा (3) तद्धित (10) तिङन्त (11) तिथि (2) तीर्थ (3) दर्शन (17) धन्वन्तरि (1) धर्म (1) धर्मशास्त्र (12) नक्षत्र (3) नाटक (4) नाट्यशास्त्र (2) नायिका (2) नीति (3) पक्ष (1) पतञ्जलि (3) पत्रकारिता (4) पत्रिका (6) पराङ्कुशाचार्य (2) पर्व (2) पाण्डुलिपि (2) पालि (3) पुरस्कार (13) पुराण (2) पुस्तक (1) पुस्तक संदर्शिका (1) पुस्तक सूची (14) पुस्तकालय (5) पूजा (1) प्रत्यभिज्ञा शास्त्र (1) प्रशस्तपाद (1) प्रहसन (1) प्रौद्योगिकी (1) बिल्हण (1) बौद्ध (6) बौद्ध दर्शन (2) ब्रह्मसूत्र (1) भरत (1) भर्तृहरि (2) भामह (1) भाषा (1) भाष्य (1) भोज प्रबन्ध (1) मगध (3) मनु (1) मनोरोग (1) महाविद्यालय (1) महोत्सव (2) मुहूर्त (2) योग (6) योग दिवस (2) रचनाकार (3) रस (1) रामसेतु (1) रामानुजाचार्य (4) रामायण (2) राशि (1) रोजगार (2) रोमशा (1) लघुसिद्धान्तकौमुदी (45) लिपि (1) वर्गीकरण (1) वल्लभ (1) वाल्मीकि (1) विद्यालय (1) विधि (1) विश्वनाथ (1) विश्वविद्यालय (1) वृष्टि (1) वेद (4) वैचारिक निबन्ध (25) वैशेषिक (1) व्याकरण (45) व्यास (2) व्रत (2) शंकाराचार्य (2) शरद् (1) शैव दर्शन (2) संख्या (1) संचार (1) संस्कार (19) संस्कृत (15) संस्कृत आयोग (1) संस्कृत कथा (6) संस्कृत गीतम्‌ (38) संस्कृत पत्रकारिता (2) संस्कृत प्रचार (1) संस्कृत लेखक (1) संस्कृत वाचन (1) संस्कृत विद्यालय (3) संस्कृत शिक्षा (5) संस्कृतसर्जना (5) सन्धि (3) समास (6) सम्मान (1) सामुद्रिक शास्त्र (1) साहित्य (7) साहित्यदर्पण (1) सुबन्त (6) सुभाषित (3) सूक्त (2) सूक्ति (1) सूचना (1) सोलर सिस्टम (1) सोशल मीडिया (2) स्तुति (2) स्तोत्र (10) स्मृति (11) स्वामि रङ्गरामानुजाचार्य (2) हास्य (1) हास्य काव्य (1) हुलासगंज (2) Devnagari script (2) Dharma (1) epic (1) jagdanand jha (1) JRF in Sanskrit (Code- 25) (3) Library (1) magazine (1) Mahabharata (1) Manuscriptology (2) Pustak Sangdarshika (1) Sanskrit (2) Sanskrit language (1) sanskrit saptaha (1) sanskritsarjana (3) sex (1) Student Contest (2) UGC NET/ JRF (4)